धान बेचने के लिये दर- दर भटकने को मजबूर ‘अन्नदाता’

0 10

अम्बेडकरनगर — शासन के लाख दावों के बावजूद धान खरीद में बरती जा रही धांधली पर लगाम नही लग पा रहा है। अधिकारियों की मनमानी से जहाँ सरकार की मंशा पर पानी फिर रहा है, वहीं किसानों को इस बरसात वाली मौसम अपना धान बेचने के लिए दर दर भटकना पड़ रहा। दो दर्जन से अधिक किसान अपना धान ले कर क्रय केंद्र पर कई दिन से खड़े हैं इस ठंड में रात-रात पहरा दे रहे हैं।

लेकिन केंद्र किसानों का धान खरीदने के बजाय विचौलियों के माध्यम से सैकड़ो कुंतल धान प्रति दिन खरीद रहे हैं। केंद्र प्रभारी खुद स्वीकार कर रहे हैं कि एक दिन में दो ट्राली की खरीद होती और अब तक 32 हजार कुंतल की खरीद दारी हुई ।इस खरीद से प्रक्रिया सवालों के घेरे में है ,किसानों की शिकायत पर टाण्डा एसडीएम में केंद्र का निरीक्षण खरीद सुनिश्चित करने का निर्देश दिये ।

Related News
1 of 207

मामला बसखारी विकास खण्ड अंतर्गत मार्केटिंग विभाग के क्रय केंद्र दौलतपुर हाजल पट्टी का है ,जहाँ पर दर्जनों किसान अपना धान लेकर दिन रात डटे हैं। मौसम खराब होने से किसानों का धान भीग भी रहा है। किसान वहीं दरी बिछा कर रात्रि गुजार रहे हैं लेकिन यहाँ खरीद के नाम पर महज औपचारिकता बरती जा रही है। केंद्र पर न तो जनरेटर है और न ही बड़ा पंखा ,किसान ओम प्रकाश ,जंगबहादुर ,प्रदीप कुमार आदि का कहना है कि यहाँ कई दिनों से तौल का इंतजार कर रहे हैं लेकिन तौल नही हो रही है बारिश में धान भी भीग रहा है यहाँ प्रतिदिन एक दो ट्राली ही खरीद होती है।

जबकि दो महीने में 32 हजार कुंतल की खरीदारी आखिर कैसे हो गयी ,केंद्र प्रभारी का कहना है कि प्रति दिन दो ट्राली की तौल होती है और अबतक 32 हजार कुंतल की खरीद हुई है। किसानों की शिकायत पर टाण्डा एसडीएम एमपी सिंह ने भी केंद्र का निरीक्षण किया और खरीददारी सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इस दौरान जब एसडीएम ने जब अभिलेख मांगा तो केंद्र प्रभारी दिखा नही सके।

(रिपोर्ट- कार्तिकेय द्विवेदी,अम्बेडकरनगर)

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...
नई खबर पढ़ने के लिए अपना ईमेल रजिस्टर करे !
आप कभी भी इस सेवा को बंद कर सकते है |

 

 

शहर  चुने 

Lucknow
अन्य शहर