ब्रेकिंग न्यूज़

बुलंदशहर हिंसा : सीएम योगी से मिला शहीद का परिवार, एक सदस्य को मिलेगी नौकरी

प्रदेश
Typography

लखनऊ -- उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हिंसा के शिकार हुए शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का परिवार गुरुवार को सीएम योगी से मिलने पहुंचा। यह मुलाकात मुख्‍यमंत्री आवास में हुई। मुलाकात के वक्त सूबे के डीजीपी ओपी सिंह भी मौजूद थे।

लखनऊ -- उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में हिंसा के शिकार हुए शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का परिवार गुरुवार को सीएम योगी से मिलने पहुंचा। यह मुलाकात मुख्‍यमंत्री आवास में हुई। मुलाकात के वक्त सूबे के डीजीपी ओपी सिंह भी मौजूद थे।

इस मुलाकात के दौरान सीएम योगी ने संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें हरसंभव मदद का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि मामले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने परिवार को असाधारण पेंशन, एक सदस्य को नौकरी के साथ शहीद सुबोध के नाम पर जैथरा कुरावली सड़क का नाम रखे जाने की बात भी कही। वहीं डीजीपी ने कहा कि 50 लाख की राशि परिवार को दी जाएगी, बैंक से परिवार ने जो लोन लिया है, वह सरकार चुकाएगी।इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी। 

उधर शहीद के बड़े बेटे श्रेय ने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से पूरा आश्वासन मिला है कि न्याय मिलेगा। जो भी आरोपी हैं, उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। संकट की इस घड़ी में वह हमारे साथ हैं और रहेंगे। मामले की जांच कहां तक पहुंची, इस सवाल पर डीजीपी ने कहा कि जब जांच पूरी हो जाएगी तो अवगत कराया जाएगा।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट : इंस्पेक्टर के सिर में मारी गई थी गोली

हिंसा में मारे गये इंस्पेक्टर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ गयी है। रिपोर्ट के मुताबिक, इंस्पेक्टर की मौत गोली लगने की वजह से हुई थी। लेफ्ट आई ब्रो के पास उन्हें गोली लगी, जो सिर के पीछे के हिस्से में फंस गयी थी। उन्हें गोली छह से आठ फुट की दूरी से मारी गयी थी। जांच में यह भी सामने आया है कि उनके शरीर पर लाठी-डंडों से चार से छह बार हमला किया गया था।

बता दें कि सोमवार को बुलंदशहर के चिंगरावटी पुलिस चौकी पर भीड़ की हिंसा के बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी। वहीं परिजनों ने सीएम योगी के न आने और शहीद का दर्जा न दिए जाने तक अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया था। हालांकि पुलिस अधिकारियों के आश्वासन के बाद इंस्पेक्टर सुबोध के परिजन अंतिम संस्कार को राजी हुए। 

Pin It