ब्रेकिंग न्यूज़

"नीच - असभ्य " बयान पर बीजेपी के कई विरोधियों ने भी मणि पर किया हमला

राजनीति
Typography

न्यूज़ डेस्क -- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वाले मणिशंकर अय्यर पर चौतरफा हमला शुरू हो गया है। वहीं दूसरी तरफ कार्रवाई करते हुए कांग्रेस ने उन्हें प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। हालांकि भाजपा किसी भी तरह से इस मुद्दे पर कांग्रेस को बख्शने के मूड में नहीं दिख रही है।

न्यूज़ डेस्क -- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने वाले मणिशंकर अय्यर पर चौतरफा हमला शुरू हो गया है। वहीं दूसरी तरफ कार्रवाई करते हुए कांग्रेस ने उन्हें प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। हालांकि भाजपा किसी भी तरह से इस मुद्दे पर कांग्रेस को बख्शने के मूड में नहीं दिख रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सूरत रैली में मणिशंकर अय्यर पर पलटवार के बाद भाजपा नेता लगातार कांग्रेस को निशाने पर ले रहे हैं।

'कई बड़े नेता मणि पीड़ित हैं': अमरसिंह (सपा)

इस बीच कट्टर विरोधी समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने भी मणिशंकर अय्यर के 'नीच' वाले बयान पर प्रतिक्रिया दी है। अमर सिंह ने मणिशंकर के बयान पर कहा, 'इस देश के अनेक नेता 'मणि पीड़ित' हैं। इसमें उमा भारती, स्वर्गीय जयललिता और तमाम बड़े-बड़े नाम हैं। मैं स्वयं भी मणि पीड़ित हूं। पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजरात के भाई सतीश गुजराल के निवास पर एक भोज था। मद्यपान करके, नशे में चूर मदमस्त, आधे घंटे तक वो (मणिशंकर अय्यर) इतनी क्रूर बातें कर रहे थे कि हमारी और उनकी एक ऐतिहासिक झड़प हुई।'आगे बताते हुए अमर सिंह ने कहा, 'और उस झड़प ने पूरे राष्ट्र में इतनी प्रसिद्धि पाई कि जब मणिशंकर अय्यर संसद के प्रांगण में किसी को बेईज्जत करने खड़े होते थे तो भाजपा के सदस्य कहते थे- मणि बैठ जा, नहीं तो अमर सिंह आ जाएगा।'

'मणि ने राजनीतिक मर्यादा तार - तार कर दी ': लालू यादव 

वहीं, बिहार में कांग्रेस के साथ गठबंधन में शामिल आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव ने भी अय्यर को आड़े हाथों लिया। लालू ने ट्वीट करते हुए कहा, 'इस देश में राजनीतिक मर्यादा, भाषा और व्याकरण को सिर्फ़ और सिर्फ़ एक व्यक्ति ने तार-तार एवं तहस-नहस किया है।' 

'जान - बूझकर दिया ये बयान': अरुण जेटली 

मामले पर अब फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली ने कहा है, "अय्यर को पार्टी से बाहर किया जाना एक सोची-समझी रणनीति है। मेरी लोगों से अपील है कि कांग्रेस के इस खेल को समझें। अय्यर ने जानबूझकर मोदी के लिए जातिसूचक बयान दिया। फिर सहूलियत देखकर माफी मांग ली। उनको पार्टी से बाहर किया जाना भी एक रणनीति है। अय्यर का बयान ये इसी माइंडसेट को दिखाता है कि केवल एक कुलीन परिवार ही इस देश पर शासन कर सकता है। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री को नीच कहकर देश के कमजोर और पिछड़े तबके के लोगों का अपमान किया है।''

क्रमवार पढ़ें ये पूरी ' राजनैतिक हलचल':-  मणिशंकर अय्यर के बिगड़े बोल ,मोदी को बताया 'नीच' और 'असभ्य'

-मणिशंकर के 'नीच-असभ्य' बयान पर मोदी ने किया पलटवार

-मणिशंकर के 'नीच-असभ्य' बयान पर राहुल गांधी ने कहा- उन्हें मांगनी चाहिए माफी

-मणिशंकर ने 'नीच-असभ्य' बयान पर मांगी माफी,कहा- गलती से बोल गया 'नीच आदमी'

-मणिशंकर को "नीच - असभ्य " बयान के बाद कांग्रेस ने किया निलंबित

 

Pin It