ब्रेकिंग न्यूज़

वर्ष 2018 के 12 महीनों के लिए 12 संकल्प....

लेख
Typography

 वाराणसी-- नववर्ष के अवसर पर नए संकल्प लेने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। ऐसे में कुछ संकल्पों के साथ जिन्हें लेकर आप खुद का, समाज का और देश का भला कर सकते हैं। आइये दोस्तों जानते हैं क्या हैं सफलता का राज-

 वाराणसी-- नववर्ष के अवसर पर नए संकल्प लेने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। ऐसे में कुछ संकल्पों के साथ जिन्हें लेकर आप खुद का, समाज का और देश का भला कर सकते हैं। आइये दोस्तों जानते हैं क्या हैं सफलता का राज-

 

पहला:- पहला सुख निरोगी काया : अपनी और परिवार की सेहत पर पूरा ध्यान, ताकि डॉक्टरों की जेब में मेहनत की कमाई का पैसा न जाए। रोजाना व्यायाम, योग या किसी भी तरह की कसरत की शुरुआत। साथ ही परिजनों-मित्रों को भी ऐसा करने के लिए आग्रह करेंगे।

दूसरा:- सुरक्षा : सड़क पर चलते समय अपनी और दूसरों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखेंगे। हमेशा हैलमेट और सीट  बेल्ट का उपयोग करेंगे। कितनी भी जल्दी हो, यातायात के नियमों का उल्लंघन नहीं करेंगे। 

तीसरा:- पर्यावरण : इस साल हमने दिल्ली में प्रदूषण की भयावहता देखी है, बच्चों को मास्क लगाए देखा है। ऐसे में हम नहीं चाहेंगे कि हमारे शहर की हालत भी ऐसी ही हो। अत: पौधारोपण के साथ ही पेड़ों की सुरक्षा को प्राथमिकता देंगे। दैनिक यात्रा के लिए ज्यादा से ज्यादा लोक परिवहन का ही इस्तेमाल करेंगे। 

चौथा:-  स्वच्छता : अपने घर के आसपास की साफ-सफाई के साथ ही सड़क पर गुटखा थूकने व कचरा फेंकने वालों से ऐसा नहीं करने के लिए आग्रह करेंगे ताकि हमारा परिवेश स्वच्छ और सुंदर बना रहे। 

पाचवां :- सोशल मीडिया पर समझदारी : सोशल मीडिया पर ऐसी कोई भी सामग्री पोस्ट या फॉरवर्ड नहीं करेंगे जिससे अफवाह फैलती हो। फॉरवर्ड करने से पहले उसकी सत्यता की पुष्टि जरूर करेंगे। 

छठवाँ:- व्यक्तिगत संबंध : इस वर्ष से परिवार और ऑफिस में अनुशासन और निजी संबंधों पर खास ध्यान देंगे। इसके लिए समय पर दफ्तर पहुंचेंगे और समय पर ही घर जाकर परिवार को भरपूर वक्त देंगे। आखिर उन्हीं की खुशी के लिए तो हम इतनी मेहनत करते हैं। साथ ही खास अवसरों पर अपने निकट मित्रों और स्वजनों से प्रत्यक्ष मुलाकात करेंगे। 

सातवाँ:- रचनात्मकता : इस वर्ष अपनी रचनात्मकता को निखारेंगे। इसके लिए अपने पसंदीदा शौक जैसे- संगीत, ड्राइंग, पेंटिंग, तैराकी, योग इत्यादि सीखेंगे। 

आठवां:- पढ़ाई : वर्षभर ईमानदारी से और मन लगाकर पढ़ाई करेंगे। साथ ही समय निकालकर कुछ गरीब बच्चों को शिक्षित करने का प्रयास करेंगे। 

नवां:- पुराने चीजों का सदुपयोग : ऐसी वस्तुएं जो अब या तो पुरानी हो गई हैं या काम नहीं आती हैं, उनका सदुपयोग करेंगे या फिर उन्हें जरूरतमंद व्यक्तियों तक पहुंचाएंगे। 

दसवां:- सामाजिक दायित्व : जरूरतमंद बीमारों के लिए रक्तदान करने के साथ उपेक्षित बुजुर्गों के बीच कुछ समय जरूर बिताएंगे। 

ग्यारहवा:- सामाजिक सौहार्द : ऐसा कोई भी कार्य नहीं करेंगे, जिससे सामाजिक समरसता को नुकसान पहुंचे, साथ ही इस तरह की हरकत करने वालों को सख्ती से रोकेंगे।

बारहवां:- बुरी आदतें : शराब, सिगरेट और गुटखा जैसी बुरी आदतें यदि हैं तो उनसे पीछा छुड़ाने की पूरी कोशिश करेंगे।

 

Pin It