ब्रेकिंग न्यूज़

--लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी 

राज्य मुख्यालय लखनऊ।पाँच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम तो 11 दिसंबर को आएँगे लेकिन एक्ज़िट पोल मोदी की भाजपा के अहंकार को तोड़ते दिखाई दे रहे है क्या देश का सियासी मौसम बदल रहा है ? क्या पाँच राज्यों के चुनावी परिणामों की अँगड़ाई से बदलेगी 2019 की लडाई ?

*लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी*

लखनऊ -- आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सभी सियासी पार्टियाँ अपनी-अपनी सियासी चाल अभी से चल रही है। यूपी में गठबंधन होगा या नही होगा जहाँ इसपर सभी की निगाहें लगी है वही मोदी की भाजपा जो इस समय सत्ता में है

लखनऊ से तौसीफ़ क़ुरैशी

लखनऊ -- यादव कंपनी में चल रही सियासी रार किसी से अब छिपी नही रही अजब सियासत का ग़ज़ब खेल।आज दुश्मनी तो कल मेल जी! हा ऐसा हो गया है हमारी सियासत का अब खेल,इसको समझना भोली-भाली जनता के बस में नही रहा।

तौसीफ़ कुरैशी...

लखनऊ । क्या देश की 80 % जनता यह चाहती है कि विपक्षी सियासी दल महागठबंधन बनाकर मोदी की भाजपा के ख़िलाफ़ लोकसभा के महासंग्राम में जाए ? क्या विपक्ष के मुख्यदलों में महागठबंधन बनने में दुशवारियाँ पैदा हो रही है ओर अगर यह सही है तो वह क्या है जिसकी वजह से दूशवारियाँ आ रही है ?

*तौसीफ़ क़ुरैशी*

लखनऊ--आज कल देश के रुपए की कीमत लगातार गिरती जा रही है,लेकिन भारत की 56 इंच का सीना होने का डंका बजाने वाली मोदी सरकार रूपया कैसे मज़बूत हो इस पर कोई ठोंस योजना बनाती नही दिख रही है।

*तौसीफ कुरैशी*

लखनऊ -- पिछले आमचुनाव में पता नही क्या-क्या मुद्दे लेकर जनता के बीच गई थी जबकि की भाजपा आज की मोदी की भाजपा ठीक उसके उलट काम कर रही है यही नही जिन जाँच एजेंसियों पर हमें गर्व हुआ करता था...

*तौसीफ़ क़ुरैशी*

लखनऊ । देश में मौजूदा सियासी हालात जुदा-जुदा से लगते है जब भी इसे क़रीब जा कर पढ़ने का मौक़ा मिलता तो बहुत कुछ दिखाई देने लगता है। अब आम आदमी इसको इतनी गहराई में जाकर पर्ख ने की कुवत (हिम्मत नही जुटा सकता)

*तौसीफ़ क़ुरैशी*

आज कल राजनीति में आया राम ,गया राम वाली रणनीति पर अमल किया जा रहा है क्योंकि अब हर पल देश आमचुनाव की ओर बढ़ रहा है जैसे-जैसे यह पल बढ़ते जाएँगे वैसे-वैसे ही सियासत करने वालों के सियासी घर भी बदलेंगे

तौसीफ़ क़ुरैशी

पाँच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों के बाद देश आमचुनावों की तैयारी शुरू कर देगा बल्कि अगर यू कहे कि पहले ही शुरू कर दी है तो ग़लत नही होगा सभी दल अपने-अपने कार्यकर्ताओं से बूथ स्तर तक की तैयारियों में जुटने की बातें कर कर रहे है।