ब्रेकिंग न्यूज़

हेल्थ डेस्क -- दिल दुरुस्त रखना है तो आप रोजाना वॉक करिए (टहलिए)। वॉक के साथ-साथ व्यायाम ही आपके दिल को सेहतमंद रख सकता है। यह कोई नई बात नहीं है।

हेल्थ डेस्क -- आज कर की भागदौड़ भरी जिंदगी में खान-पान के बाद दांतों की देखभाल को लेकर की जाने वाली अनदेखी के कारण वर्तमान में लोग दांतों में दर्द, मसूड़ों में सूजन सहित अन्य परेशानियों से पीडि़त होने लगे हैं।

हेल्थ डेस्क -- बारिश हमेशा खुशहाली का पैगाम लेकर आती है। बारिश जहाँ एक ओर हरियाली और सुंदरता लेकर आती है वहीं दूसरी तरफ यही बारिश बीमारियों की झड़ी लगा जाती है। हर तरफ पानी का जमाव, दूषित पेयजल और कीट पतंगों की भरमार। जिससे कई तरह की बीमारियों को खुला निमंत्रण देते दिखायी देते हैं। 

हेल्थ डेस्क -- अगर आप नौ दिन लगातार व्रत किए हों तो आपके लिए जरूरी है कि ऐसा आहार लिया जाए जो व्रत के दौरान ली गई डाइट से ही मिलता जुलता हो। यानी सीधे कुछ मिर्च मसाले वाले खाने से बचना होगा।

हेल्थ डेस्क-- सफेद बालों को काला करने के लिए लोग हेयर कलर या फिर डाई का इस्तेमाल करते हैं। मगर इनमें बहुत ज्यादा कैमिक्ल होते हैं जो धीरे-धीरे पूरे बालों को सफेद करना शुरू कर देते हैं। एेसे में आप नैचुरल तरीके से बालों को काला करने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह घरेलू नुस्खा बिना साइड-इफैक्ट सफेद बालों को काला करने में मददगार है। 

हेल्थ डेस्क-- सेहतमंद रहने के लिए हमारे शरीर को कई पोषक तत्वों की जरुरत होती है। आयरन इनमें से एक महत्वपूर्ण तत्व है। यह हमारे पूरे शरीर में अॉक्सीजन पहुंचाने का काम करता है।

हेल्थ डेस्क-- डाइबिटीज भी उन कई बीमारियों में से एक है जिसमें आपके शरीर के अदंर कई मैटाबॉलिक डिसऑर्डर उत्पन्न हो जाते हैं और ब्लड शुगर लेवल भी बढ़ने लगता है. डायबिटीज के मरीज को अपने खाने-पीने की आदतों का विशेष ध्यान रखने के लिए कहा जाता है. 

हेल्थ डेस्क--कहा जाता है कि पिज्जा सेहत के लिए हानिकारक होता है। पिज्जा और पास्ता जैसे फूड्स में कई बार ओरिगेनो का प्रयोग किया जाता है । यूरोप में इस्तेमाल होने वाली यह हर्ब अब पूरी दुनिया में प्रयोग की जाने लगी है। कई शोधों में पाया गया है कि ओरिगेनो में कई औषधीय गुण होते हैं। ओरिगेनो विटामिन ए, सी, ई, के, आयरन, फोलेट, कॉपर, कैल्शियम, नियासिन, पोटेशियम, जिंक और मैग्नीशियम जैसे विटामिन व खनिजों से भरपूर होता है।

हेल्थ डेस्क- एक नए शोध में खुलासा हुआ है कि तनाव अथवा उद्वग्निता से जूझने के दौरान लोग बुरी अथवा नकारात्मक खबरों को ज्यादा सहजता से लेते हैं। जर्नल ऑफ न्यूरोसाइंस में प्रकाशित एक शोध में खुलासा किया गया है कि बुरी खबर की बजाय अच्छी खबर को ज्यादा तवज्जो देने की प्रवृत्ति उस वक्त गायब हो जाती है।

More Articles ...